ब्रिटेन आतंक के पीछे ओसामा बिन लादेन!

खुद को ओसामा बिन लादेन कहने वाला एक इस्लामी आतंकी पूरे ब्रिटेन में आतंकवाद प्रशिक्षण शिविर संचालित कर रहा है और लंदन में बम धमाकों को अंजाम देने वालों समेत कई मुस्लिम युवाओं को इसी शख्स ने आतंकवाद की राह दिखाई है।

बुधवार को वूल्विच क्राउन अदालत में कहा गया कि 50 वर्षीय मोहम्मद हामिद ने अपने अनुयायियों से कहा है कि 7 जुलाई 2005 को लंदन में हुए आतंकी हमले में हुईं 52 मौतें उसके लिए नाश्ता भी नहीं था। इसके अलावा उसने 11 सितंबर के हाईजैकरों को मैग्निफिसेंट 15 की संज्ञा दी है। साथ ही हामिद ने अपनी योजनाओं के बारे में बताते हुए कहा है कि 2012 में लंदन ओलंपिक से पहले छह-सात शहरों को निशाना बनाया जा सकता है।

अदालत को बताया गया कि 21 जुलाई की नाकाम बम धमाकों की साजिश में दोषी पाए गए चारों आतंकियों के साथ अपने पूर्व लंदन स्थित घर पर शुक्रवार की नमाज के बाद ये सरगना झीलों के जिले में गया था। 7 जुलाई के धमाकों के बाद 21 जुलाई के एक आरोपी आतंकी हुसैन ओमान को हामिद ने एक संदेश भेजा था : अस्सलाम भाईजान.. हमें डर है कि कोई अल्लाह को कबूल नहीं कर रहा है। लेकिन हम अपनी राह नहीं बदलेंगे, हम मुस्लिम हैं, यह फख्र की बात है..

अदालत में सरकार की तरफ से पैरवी करने वाले डेविड फॉरेल ने कहा कि यह संदेश हामिद के मंतव्य को स्पष्ट करता है। अदालत को बताया गया कि हामिद ऑक्सफोर्ड स्ट्रीट पर 21 जुलाई कांड के एक दोषी मुक्तर इब्राहीम के साथ मिलकर एक बुकस्टॉल चलाता है। इसी बुकस्टॉल से उसे एक पुलिसकर्मी पर नस्लभेदी टिप्पणी करते और लोगों को धमकाते हुए गिरफ्तार किया गया था।

बताया गया है कि हामिद ने पुलिस अफसर को अपनी पहचान ओसामा बिन लादेन के रूप में कराते हुए कहा था कि मेरे पास एक बम है और मैं तुम सबको उड़ाने जा रहा हूं।

Leave a Comment